Shri Ram Janki Lyrics - श्री राम जानकी बैठे है मेरे सीने में


This is bhajan Shri Ram Janki Lyrics in Hindi. श्री राम जानकी बैठे है मेरे सीने में by Lakhbir Singh Lakkha.

नहीं चलाओ बाण व्यंग के ऐह विभीषण
ताना ना सेह पाऊं, क्यों तोड़ी  है यह माला,
तुझे  ए  लंकापति बतलाऊं
मुझ में भी है तुझ में भी है, सब में है समझाऊं
ऐ लंका पति विभीषण ले देख मैं तुझ को आज दिखाऊं

जय श्री राम

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
देख लो मेरे मन के नागिनें में ।

मुझ को कीर्ति न वैभव न यश चाहिए,
राम के नाम का मुझ को रस चाहिए ।
सुख मिले ऐसे अमृत को पीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में  ॥

अनमोल कोई भी चीज मेरे काम की नहीं
दिखती अगर उसमे छवि सिया राम की नहीं

राम रसिया हूँ मैं, राम सुमिरन करू,
सिया राम का सदा ही मै चिंतन करू ।
सच्चा आंनंद है ऐसे जीने में श्री राम,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में ॥

फाड़ सीना हैं सब को यह दिखला दिया,
भक्ति में हैं मस्ती बेधड़क दिखला दिया ।
कोई मस्ती ना सागर मीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में ॥

Shri Ram Janki Lyrics Video

Credit:

Lyrics:Lakhbir Singh Lakkha
Singer:Lakhbir Singh Lakkha
Music:Lakhbir Singh Lakkha
For moreBeautiful Song Lyrics

Info:

Shri Ram Janki Lyrics with Video. Whenever you hear श्री राम जानकी बैठे है मेरे सीने में lyrics bhajan you will have heavenly experience.

Shri ram janki baithe hai, shree ram janki with lyrics, shri ram janki baithe hai mere seene me lyrics, full lyrics shri ram janki baithe hain sine mein, shri ram janki baithe hain mere seene mein lyrics, shri ram janki baithe hai mere seene me song, shri ram janki baithe hai mere seene me hindi lyrics.